69 views 4 sec 0 Comment

बरेली: अपने मकानों पे चले बुलडोजर को लेकर पूर्व केंद्रीय मंत्री के कार्यालय पर ग्राम वासियों ने दिया धरना

- March 29, 2022

बरेली: अपने मकानों पे चले बुलडोजर को लेकर पूर्व केंद्रीय मंत्री के कार्यालय पर ग्राम वासियों ने दिया धरना

रिपोर्ट: सोनू अंसारी

BDA विभाग के द्वारा की जा रही बिक्री इलाके में कार्रवाई से नाराज ग्राम वासियों ने अब अपनी नाराजगी दिखाना शुरू कर दी है विभाग पर आरोप लगाया गया है कि उन्होंने तानाशाही रवैया के चलते उनके घरों पर बुलडोजर चलाकर उन्हें नेस्तनाबूद कर दिया कर अपनी जमीन और मकानों को बचाने के लिए ग्रामीण काफी लंबे समय से धरना प्रदर्शन कर रहे हैं जब मांग पूरी नहीं हुई तो उन्होंने पूर्व केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार के कार्यालय पर धरना देना शुरू कर दिया है

रात के अंधेरे मैं अपनी मांगों को लेकर गांधीवादी तरीके से धरना दे रहे

रात के अंधेरे में अपनी मांगों को लेकर गांधीवादी तरीके से धरना दे रहे यह लोग सड़क पानी बिजली से परेशान नहीं है इनकी अपनी मांग है वह है अपनी जमीन और मकानों को बचाने के लिए क्योंकि वीडियो विभाग थाना बिथरी क्षेत्र के बिचपुरी गांव में आलीशान कॉलोनी काट रहा है जिसमें कई गांवों की जमीनों को अधिग्रहण किया गया ऐसे में अवधेश पुरी गांव की कॉलोनियों के आड़े आ रहे मकान और किसानों की जमीन को भी विभाग ने अधिग्रहण कर दिया है इससे नाराज ग्राम वासियों पिछले 1 महीने से अपनी जमीनों को बचाने के लिए गांव के ही अंदर धरना दे रहे थे और इस दौरान धरने पर एक महिला की मौत भी हो गई फिलहाल उनकी मांगों को नहीं माना गया तो गांव के लोगों ने गांधीवादी तरीके से धरना देना शुरू कर दिया

बीडीए की तरफ से कार्रवाई की गई

विथरी चैनपुर क्षेत्र के गांव चंद्पुर बिचपुरी में 3 मार्च को बीडीए की तरफ से कार्रवाई की गई और इस दौरान बुलडोजर लगाकर करीब 10 मकानों को तोड़कर उनकी जमीन अपने कब्जे में ले ली बाकी बचे मकानों पर विभाग कार्रवाई करने की रणनीति तैयार कर रहा है जिसमें 304 बच्चे हैं ऐसे में अब गांव के लोगों ने भाजपा के पूर्व केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार के कार्यालय पर गांव वालों धरने पर बैठ गए गांव वालों का आरोप है ना तो कोई अधिकारी उनसे बात कर रहा है और ना ही कोई राजनेता उनसे बात करने के लिए तैयार है ऐसे में उनके पास एक ही विकल्प बचा है अपनी जमीन और मकानों को बचाने के लिए तो वह गांधीवादी तरीके से अपनी बात रख रहे

बिचपुरी के लोग ने बताया हमारे घरों को गिराया ना जाए

बिचपुरी के लोग ने बताया हमारे घरों को गिराया ना जाए हम परिवार को लेकर कहां जाएंगे । ग्राम चंदपुर बिचपुरी निवासी ईश्वरी सक्सेना ने बताया हम लोग 20 वर्षों से रह रहे हैं हमारे नाम बिजली कनेक्शन है वोटर कार्ड बने हुए , राशन कार्ड बने हुए है हमारी झोपड़ी थी उसके बाद हम लोगो ने अपने घरों के लिए पक्का बनवाया था उस समय बीडीए ने हमारे घरों को क्यों नहीं रोका जो 20 साल बाद हम को बेघर किया जा रहा है अपने परिवार बच्चों को महिलाओं को लेकर कहां जाएं सरकार हमारी मदद करें और विभाग द्वारा तानाशाही जुल्म को बंद कराएं

वीडियो विभाग उन्हें भूमाफिया भी बता रहा है

गांव के लोगों का कहना है कि वीडियो विभाग उन्हें भूमाफिया भी बता रहा है साथ ही साथ उनके घरों पर तानाशाही रवैया अपनाकर उन्हें ध्वस्त कर रहा है ऐसे में ग्रामीण काफी परेशान है तो क्षेत्र के लोगों का कहना है कि वह लंबे बरसों से उस गांव में निवास कर रहे हैं और अब BDA विभाग उन्हीं की जमीनों को सस्ते दामों में लेकर उन पर अलीशान कॉलोनी काट रहा है और उन्हें कौड़ियों के दाम दे रहा है फिलहाल गांव के लोगों ने कहा है कि अगर उनकी अब जमीन ली गई या उनके मकानों को तोड़ा गया तो उनके पास अब एक ही विकल्प रह गया है या तो गांधीवादी तरीके से विभाग मान जाए और नहीं माना तो वह अपनी जान देने के लिए तैयार है