31 views 4 sec 0 Comment

बरेली: सपा के 12 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने की विधायक शहजिल का पेट्रोलपंप ध्वस्त करने की जांच

- April 27, 2022

बरेली: सपा के 12 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने की विधायक शहजिल का पेट्रोलपंप ध्वस्त करने की जांच

रिपोर्ट: सोनू अंसारी

भोजीपुरा सपा विधायक शहिजल इस्लाम के विवादित बयान के बाद पेट्रोल पंप पर चलाए गए बुलडोजर को लेकर 20 दिन बाद 12 सदस्य टीम ने मामले की जांच की है इस दौरान उन्होंने डीएम और एसपी से भी बात की है समाजवादी पार्टी के विधायक के ऊपर हुई कार्रवाई को लेकर नेताओं ने अपनी नाराजगी जाहिर दिखाई उन्होंने भाजपा के कई विधायक नेताओं का बेन नाम लिया कहा की बरेली में ऐसे की अस्पताल और शादी हॉल और कॉलेजों है जो पूरी तरह से अवैध है।

प्राधिकरण के द्वारा की गई कार्रवाई को लेकर उन ने तानाशाह बताया

नेताओं ने कहा की उन के ऊपर भी BDA विभाग कार्रवाई करें प्राधिकरण के द्वारा की गई कार्रवाई को लेकर उन ने तानाशाह बताया 20 दिन बाद सपा के नेताओं ने पहुचकर अपनी नारजगी दिखाई है भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार का लोकतंत्र और लोकतांत्रिक व्यवस्था पर विश्वास नहीं है. विपक्ष को डराकर जनता में दहशत फैलाना चाहती है. इसलिए विधायक शहजिल इस्लाम का पेट्रोल पंप बुलडोजर चल कर उसे ध्वस्त किया गया है.

पेटोल पंप तब चलता है, जब उसकी सभी 08-10 विभागों से एनओसी मिलती हैं

संजय लाठर ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि पेटोल पंप तब चलता है, जब उसकी सभी 08-10 विभागों से एनओसी मिलती हैं. इन एनओसी के बाद डीएम एनओसी देते हैं, तब कंपनी तेल भेजकर पेट्रोल पंप शुरू कराती है. पेट्रोल पंप के नक्शे को मानचित्र के साथ ही 10 लाख की राशि जाम की गई लेकिन इस बीच कोविड के चलते टाल दिया गया था इस बीच पेट्रोल पंप पर कोई भी पक्का निर्माण नहीं हुआ. ऑफिस तक टेम्परेरी बना था. इसके बाद भी बिना नोटिस के बुलडोजर से ध्वस्त किया गया.

संजय ने कहा कि ये तानाशाही है, जबकि कुछ ही दूरी पर भाजपा नेता का पेट्रोल पंप है. उसका नक्शा पास है नही है कोई मानक पूरे नही किया गया उनके ऊपर ये कार्यवाही नही की उसको ध्वस्त नहीं किया गया इतना ही नही उन सिर्फ नोटिस दिया गया है, भोजपुरी के विधायक को भी नोटिस दे सकते थे लेकिन नेता प्रतिपक्ष संजय ने कहा कि बरेली में भाजपा नेताओं के 80 पेट्रोल पंप, अस्पताल और शादी हॉल बिना नक्शे पास के चल रहे हैं. कोई कंपाउंडिंग भी नहीं की गई. इसके बाद भी संचालित हैं. इन पर कोई कार्रवाई क्यों नहीं की गई है

संजय लाठर ने कहा, सपा विधायक के बयान पर कोई आपत्ति थी, तो मुकदमा दर्ज कर जा सकता था लेकिन उनके खिलाफ कार्रवाई के साथ ही उन पर तानाशाह तरीके से बुलडोजर चलाया गया कानून अपना काम कर रहा था. न्यायपालिका को सजा देने का अधिकार है. मगर, इन लोगों ने बदले की भावना से कार्रवाई की है. इसको लेकर जल्द रणनीति बनाकर आंदोलन किया जाएगा.इतना ही नही विधानसभा में सदन के दौरान यह मुद्दा उठाया जाएगा