4 views 3 sec 0 Comment

हंगामे और नारेबाजी को लेकर राज्‍यसभा के 19 विपक्षी सांसद निलंबित किए गए

- 26 July 2022

हंगामे और नारेबाजी को लेकर राज्‍यसभा के 19 विपक्षी सांसद निलंबित किए गए

Breaking Desk | ANN NEWS

संसद के मॉनसून सत्र के दौरान सदन के वेल में प्रवेश करने और नारेबाजी के लिए राज्‍यसभा के 19 सांसदों को निलंबित किया गया है | तृणमूल कांग्रेस सांसद सुष्मिता देव, डॉ. शांतनु सेन और डोला सेन सहित 19 सांसदों को सप्‍ताह के शेष भाग के लिए सस्‍पेंड किया गया है | निलंबित किए गए सांसदों में सुष्मिता देब, डॉ. शांतनु सेन और डोला सेन के अलावा मौसम नूर, शांता छेत्रीय, नदीमुल हक, अबीरंजन विश्‍वास (सभी तृणमूल कांग्रेस) के अलावा ए. रहीम और शिवदासान (वामदल), कनिमोझी (डीएमके), बीएल यादव (टीआरएस) और मोहम्‍मद अब्‍दुल्‍ला शामिल हैं |

विपक्षी सांसदों के हंगामें के कारण उच्‍च सदन की कार्यवाही 20 मिनट के लिए स्‍थगित की गई है | गौरतलब है कि लोकसभा में हंगामे पर स्पीकर ओम बिरला द्वारा कांग्रेस के चार सदस्‍यों को पूरे सत्र के लिए निलंबित किए जाने के एक दिन बाद यह कार्रवाई सामने आई है | लोकसभा में हंगामे के लिए कांग्रेस सांसद ज्योतिमणी, माणिकम टैगोर, टीएन प्रथापन और राम्या हरिदास को सोमवार को सस्‍पेंड किया गया था |

सोमवार को विपक्षी सांसदों के लगातार हंगामे के बीच दोपहर 2.30 बजे लोकसभा की कार्यवाही स्थगित करते हुए स्‍पीकर ओम बिरला ने कड़े कदम उठाने के संकेत दिए थे | उन्‍होंने तख्तियां दिखाने वालों को सदन से बाहर करने के संकेत दिए थे | इसके बाद बिरला के कक्ष में सभी दलों की बैठक हुई, जिसमें विपक्षी दलों ने स्पीकर बिरला को सदन में तख्तियां नहीं दिखाने और हंगामा नहीं करने के लिए आश्वस्त किया था |

विपक्षी सांसदों ने सदन के सुचारू संचालन में सहयोग को लेकर भी आश्‍वासन दिया था, इसके बावजूद सदन में तख्तियां लहराई गईं और हंगामा हुआ | इसके बाद स्पीकर बिरला ने कड़ा निर्णय लेते हुए कल चार सांसदों को पूरे सत्र के लिए निलंबित करने का निर्णय लिया था |

 

ये भी पढ़े; Raksha Bandhan: रक्षा बंधन की 4 बहनों के बारे में 4 बातें जो आपको जाननी चाहिए