38 views 5 sec 0 Comment

3 फरवरी को गीता कॉलोनी के रामलीला मैदान में मल्लिकार्जुन खड़गे कार्यकर्ताओं का एक विशाल सम्मेलन में दिल्ली में लोकसभा चुनाव अभियान की शुरुआत करेंगे

- January 22, 2024
3 फरवरी को गीता कॉलोनी के रामलीला मैदान में मल्लिकार्जुन खड़गे कार्यकर्ताओं का एक विशाल सम्मेलन में दिल्ली में लोकसभा चुनाव अभियान की शुरुआत करेंगे

 

3 फरवरी को गीता कॉलोनी के रामलीला मैदान में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष श्री मल्लिकार्जुन खड़गे कार्यकर्ताओं का एक विशाल सम्मेलन में दिल्ली में लोकसभा चुनाव अभियान की शुरुआत करेंगे :- श्री अरविंदर सिंह लवली
 
भाजपा सांसदों ने अगर जनता के लिए काम किया है तो भाजपा अपने सभी सांसदों का टिकट ना काटे और उन्हें ही दुबारा चुनाव लड़ाने की हिम्मत दिखाए  :- श्री अरविंदर सिंह लवली
 
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष श्री मल्लिकार्जुन खड़गे की पूर्वी दिल्ली की रैली से भाजपा की केंद्र की तानाशाह सरकार को जनता उखाड़ फैकेंगी :- श्री अरविंदर सिंह लवली

 

Report: Jagjeet Singh

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने अपने प्रचार अभियान को गति करते हुए चुनाव की धमाकेदार तैयारी की शुरुआत पूर्वी दिल्ली में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री अरविंदर सिंह लवली ने कार्यकर्ताओं की बैठक में करी । बैठक के बाद श्री अरविंदर सिंह लवली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए घोषणा की कि 3 फरवरी को दिल्ली के गीता कॉलोनी के रामलीला मैदान में कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं का एक विशाल सम्मेलन आयोजित किया जाएगा जिसे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष श्री मल्लिकार्जुन खड़गे जी चुनाव अभियान की शुरुआत करेंगे । जिसमें पोलिंग बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं से लेकर वरिष्ठ नेता तक शामिल होंगे और कार्यकर्ता सम्मिलित  होंगे। इस मौके पर श्री लवली ने दिल्ली के सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं को रैली की तैयारी करने और इसमें शामिल होने के लिए आह्वान किया ।

श्री अरविन्दर सिंह लवली ने कहा कि दिल्ली की जनता ने भाजपा पर भरोसा कर सात सांसद चुने लेकिन पिछले दस वर्षों में भाजपा के सभी सातों सांसद जनता के बीच से नदारत है और बेकार साबित हुए। उन्होंने चुनौती देते हुए कहा कि अगर इन सांसदों ने जनता के लिए काम किया है तो भाजपा अपने सभी सांसदों का टिकट ना काटे और उन्हें ही दुबारा चुनाव लड़ाने की हिम्मत दिखाए ।

बैठक में प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार, पूर्व मंत्री डॉ नरेंद्र नाथ, पूर्व विधायक सर्व श्री मुकेश शर्मा, श्री नसीब सिंह, चो. मतीन अहमद, श्री भीष्म शर्मा, श्री अमरीश गौतम, मो आसिफ खान, पूर्व महापौर श्री फ़रहाद सूरी, ज़िला अध्यक्ष श्री गुरुचरण सिंह राजू, एडवोकेट दिनेश कुमार, पूर्व उपमहापौर श्रीमती वरयाम कौर, निगम पार्षद श्री समीर अहमद, अरीबा , लोकसभा ओब्‍जर्वर सर्व श्री डॉ संजीव शर्मा, श्री जय करण चौधरी, पूर्व निगम पार्षद राजीव चौधरी, श्री सुरेन्द्र शर्मा, चौधरी प्रेम कुमार, श्री शोएब दानिश, श्री सुनील वोहरा, श्री लक्ष्मण रावत, श्री अनुज आत्रेय, डा. परवेज़ मियाँ, श्री हिदायतुल्‍ला सहित भारी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता व नेता मौजूद थे ।

श्री अरविन्दर सिंह लवली ने कहा कि श्री मल्लिकार्जुन खड़गे जी चुनाव अभियान की शुरुआत पूर्वी दिल्ली से उसी प्रकार कर रहे हैं जैसे सन् 1977 में कांग्रेस पार्टी के चुनाव हारने के बाद 1979 में इंदिरा गांधी जी ने जनता पार्टी की सरकार को उखाड़ने के लिए यमुना पार से ही शुरुआत किया था और फिर कांग्रेस पार्टी की सरकार केंद्र में पुनः बनी थी । ठीक उसी प्रकार खड़गे जी की पूर्वी दिल्ली की रैली से भाजपा की केंद्र की तानाशाह सरकार को जनता उखाड़ फैकेंगी । उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष श्री राहुल गांधी जी की ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ जो मणिपुर से शुरू हुई है उसे हर प्रांत में हर धर्म व जाति के लोग अपना भरपूर समर्थन दे रहे हैं क्योंकि कांग्रेस पार्टी ही मात्र एक ऐसी पार्टी है जिसने हमेशा देश के विकास की बात की है। और दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी सरकार में रहकर भी केवल धर्म के आधार पर लोगों को बांटने का काम कर रही है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व विधायक श्री मुकेश शर्मा ने कहा कि दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी सभी सातो संसदीय क्षेत्रों में एक सप्ताह का अभियान चलाकर आगामी 3 फरवरी को रैली को सफल बनाने की तैयारी बढ़े स्तर पर की जाएगी। उन्होंने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार से जनता का मोह भंग हो चुका है। क्योंकि भाजपा ने चुनाव में गरीबी, मंहगाई, बेरोजगारी को दूर करने का वायदा जनता से किया था परन्तु उसके उलट उन्होंने गरीबों को और गरीब करने का काम किया और केवल अपने चंद पूंजीपती मित्रों को सबसे अमीर बनाने की नीतियां बनाईं। भाजपा सरकार के शासन में मंहगाई से जनता त्रस्त है और बेरोजगारी इतिहास के सबसे चरम पर इनके ही शासन में है। इन मुद्दों पर जनता अब इनको सत्ता से उखाड़ फेंकने के लिए मन बना चुकी है।