31 views 7 sec 0 Comment

Farmers Protest News: दिल्ली चलो आंदोलन के चौथे दिन किसान उग्र है आज किसानों ने भारत बंद बुलाया है

- February 16, 2024
Farmers Protest News: दिल्ली चलो आंदोलन के चौथे दिन किसान उग्र है आज किसानों ने भारत बंद बुलाया है

Farmers Protest News: दिल्ली चलो आंदोलन के चौथे दिन किसान उग्र है आज किसानों ने भारत बंद बुलाया है

Breaking desk | ANN NEWS

13 फरवरी को संयुक्त किसान मोर्चा किसान मजदूर मोर्चा और कई अन्य किसान यूनियन और संघ ने दिल्ली से कुछ करने का आवाहन किया है और अपनी मांगों को केंद्र सरकार के सामने निडरता से रख रहे हैं आशंका है के उपरोक्त में भाग लेने वाले नई दिल्ली पहुंचने और अपनी मांगों पर जोर देने के लिए प्रदर्शन करने के लिए निकटवर्ती राज्यों के साथ अपनी सीमाओं के विभिन्न प्रवेश बिंदु से दिल्ली में प्रवेश करने का प्रयत्न कर रहे हैं

किसान अपनी मांगों को लेकर दिल्ली की ओर बढ़ रहे हैं क्या है वह मांगे जिसके लिए किस दिल्ली चलो मार्च का आवाहन कर रहे हैं इस आंदोलन में भारत के कोने-कोने से किसान शामिल हो रहे हैं उनका कहना है 74 सालों से किसान मजदूर परेशान है किसान संघ एसपी गारंटी कानून लागू चाहते हैं साथ ही फसलों के दाम देने चाहिए, गन्ने को c200 के साथ जोड़े, लखीमपुर का केस वापस होना चाहिए बिजली संशोधन बिल वापस ले मनरेगा 200 दिन तक बढ़ाया जाए 700 दिहाड़ी कर दे आदिवासी के लिए संविधान में पांचवी सूची कानून जारी होनी चाहिए फसल बीमा योजना सरकार के बल पर चले 60 साल के किस को 10000 प्रति माह मिलना चाहिए किसान यूनियन के साथ दो बातचीत विफल होने के बाद चंडीगढ़ में तीसरी बैठक भी विफल रही इसके बाद किसान यूनियन ने भारत बैंड का आवाहन किया पिछले तीन दिनों में पुलिस और पैरामिलिट्री फोर्स ने शंभू बॉर्डर पर एड़ी चोटी का बल लगाकर किसानों को रोके हुए हैं बैरिकेडिंग तार और अर्धसैनिक बलों की तैनाती की गई और आंसू गैस के गोले भी छोड़े गए ।

2 साल पहले दिल्ली के बॉर्डर पर धरने पर बैठे किसानों का आंदोलन इतना मुखर था कि कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य कानून 2020 और आवश्यक वस्तु में संशोधन अधिनियम 2020 को रद्द करना पड़ा था सरकार की ओर से किसानों से बातचीत के लिए कृषि और किसान कल्याण मंत्री अर्जुन मुंडा वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल और गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय की कमेंट्री बनाई गई हाल ही में इन मंत्रियों की किसानों के साथ दो बार यानी 8 फरवरी और 12 फरवरी को बातचीत हुई जो विफल रही। इसके बाद किसानों ने दिल्ली कुछ करने का फैसला किया तीसरी तीसरी बैठक जो कल देर रात तक चली वह भी विफल साबित हुई इसके बाद किसान यूनियन ने भारत बैंड का आवाहन किया अपोजिशन के नेता भी किसानों के हित में उनके साथ जुड़ गए हैं रुपी के अखिलेश यादव किसानों के साथ जुड़ गए हैं। सासाराम में किसानों का तेजस्वी ने भी साथ दिया।

क्या किसने की मांग होगी पूरी या किसानों का आंदोलन यूं ही चलेगा कहीं इसका असर हमें लोकसभा चुनाव पर देखने को तो नहीं मिलेगा फिलहाल के लिए बस इतना ही बाकी तमाम खबरों के लिए देखते रहिए ए एन एन न्यूज़ नेटवर्क