15 views 3 sec 0 Comment

दिल्ली में यमुना का जलस्तर बढ़ा,यमुना खादर में सैकड़ों किसानों की फसल बर्बाद,लोगों का सुरक्षित स्थान के लिए पलायन शुरू

- 13 August 2022

दिल्ली में यमुना का जलस्तर बढ़ा,यमुना खादर में सैकड़ों किसानों की फसल बर्बाद,लोगों का सुरक्षित स्थान के लिए पलायन शुरू

रिपोर्ट: सुरेंद्र सिंह

राजधानी दिल्ली में यमुना का जल स्तर बढ़ने की वजह यमुना खादर में सैकड़ों बीघा फसल बर्बाद हो गई है . खेतों में कई फुट पानी घुस गया है . जिसकी वजह फसले नष्ट हो गई हुई है . फसल नष्ट होने की वजह से किसानों को लाखों का नुकसान हो गया है . बर्बाद हो चुकी फसलों में ज्यादातर सब्जियां है ऐसे में राजधानी दिल्ली में सब्जियों के दाम आसमान छू सकती है . बाढ़ से प्रभावित किसानों ने सरकार से मुआवजे की मांग की है.

आपको बता दें कि पहाड़ियों पर लगातार हो रही बारिश की वजह से यमुना का जलस्तर बढ़ गया है . हथिनी कुंड बैराज से छोड़ा गया पानी दिल्ली में पहुंचने के साथ राजधानी दिल्ली में यमुना का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर पहुंच कर 206 मीटर तक पहुंच गया है. यमुना का जलस्तर बढ़ते ही खादर इलाके में बाढ़ आ गई है खेतों में पानी घुस गया है जिसकी वजह से सैकड़ों बीघा खेत बर्बाद हो गया है. खादर में खेती कर रहे लोगों ने बताया कि खादर इलाके में ज्यादातर सब्जियां उगाई जाती है जो पूरी तरीके से नष्ट हो गई है .

यमुना खादर में घीया, भिंडी , मूली , तोरी ,लौकी ,हरि मिर्च, सीता फल,पालक , मकई , जूआर , अरहड़ ,धान ,बैगन ,खीरा, टमाटर की फसलें बर्बाद हो गई . किसानों का कहना है कि यमुना खादर में फसल बर्बाद होने की वजह से दिल्ली में सब्जियों के दाम पर असर पड़ेगा पहले से महंगी बिक रही सब्जियां के दाम आसमान छू सकते हैं .

यमुना का जलस्तर के साथ ही पानी तेजी से यमुना खादर में रहे लोगो की झुग्गी बस्तियों में घुसने लगा है झुग्गी बस्ती में पानी घुसने से अफरा-तफरी का माहौल है लोग झुग्गियों से सामान निकाल कर सुरक्षित स्थानों पर जा रहे हैं। बाढ़ से प्रभावित लोगों से बातचीत की तो लोगों ने अपना दर्द बयां किया लोगों ने बताया कि दोपहर के वक्त तेजी से यमुना का जलस्तर और देखते ही देखते पानी झुग्गी बस्तियों में घुस गया उन्हें अपना सामान तक निकालने का मौका नहीं मिला लोगों ने बताया कि वह लोग अपना सामान निकाल कर सुरक्षित जगह जाने में जुटे हैं।