4 views 5 sec 0 Comment

इस बार प्रशासन ने नहीं बल्कि आम पब्लिक ही ने ढहाया मदरसा, यहां चलती थी आतंक की पाठशाला

- 6 September 2022

इस बार प्रशासन ने नहीं बल्कि आम पब्लिक ही ने ढहाया मदरसा, यहां चलती थी आतंक की पाठशाला

Breaking Desk | ANN NEWS

आतंकी कनेक्शन को लेकर पिछले दिनों असम की सरकार ने तीन मदरसे ढहा दिए। अब एक और मदरसा गिरा दिया गया है हालांकि इसमें प्रशासन को कोई हाथ नहीं है। इस बार मदरसे में चल रही जिहादी गतिविधियों के विरोध में पब्लिक का गुस्सा फूट गया और स्थानीय लोगों ने इसे ढहा दिया। घटना गोपालपाड़ा जिले के पखिउरा चार की है। असम पुलिस के सीपीआरओ के मुताबिक इस मदरसे में दो बांग्लादेशी रहते थे और वे जिहादी अजेंडा चलाते थे।

असम में चौथा मदरसा जमींदोज हुआ

ये दोनों ही फरार हैं। असम में चौथा मदरसा जमींदोज हुआ है। इस मदरसे को चलाने वाले मौलवी जलालुद्दीन शेख को कुछ दिन पहले राष्ट्र विरोधी गतिविधियों के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। बताया जा रहा है कि शेख ने ही बांग्लादेशी नागरिकों को शिक्षक के रूप में नियुक्त किया था। ये दोनों ही अल-कायदा भारतीय उपमहाद्वीप और अंसारुलल्लाह बांग्ला टीम के सदस्य थे।

लोगों में जिहादी गतिविधियों के खिलाफ गुस्सा था

पुलिस अधिकारी के मुताबिक लोगों में जिहादी गतिविधियों के खिलाफ गुस्सा था। इसी गुस्से में ना केवल मदरसा ढहाया बल्कि साथ में बना मकान भी ढहा दिया। बता दें कि बीते दिनों असम सरकार ने मोरीगांव, बारपेटा और बोंगाईगांव जिले में तीन मदरसों पर बुलडोजर चलाया था।