9 views 28 sec 0 Comment

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने आज महाराष्ट्र के मुंबई में IGF Annual Investment Summit – NXT10 को किया संबोधित

- March 6, 2024
केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने आज महाराष्ट्र के मुंबई में IGF Annual Investment Summit – NXT10 को किया संबोधित

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने आज महाराष्ट्र के मुंबई में IGF Annual Investment Summit – NXT10 को किया संबोधित

प्रधामंत्री मोदी के नेतृत्व में भारत वैश्विक मानचित्र पर काले धब्बे से सुनहरा अक्षर बन कर उभरा है: शाह

अब भारतीय उद्योगों को अपना दायरा और साइज बढ़ाना होगा: अमित शाह

रिपोर्ट: जगजीत सिंह

दिल्ली/चंडीगढ़ 06 मार्च ( ): केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने आज महाराष्ट्र के मुंबई में IGF Annual Investment Summit – NXT10 को संबोधित करते हुए कहा कि आने वाले महीनों में लोकतंत्र की शुरूआत करने वाले भारत में चुनाव होने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत में होने जा रहे चुनाव आने वाले 25 वर्ष का भविष्य तय करने वाले होंगे। उन्होंने कहा कि पिछले 10 साल में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में देश में हर क्षेत्र में आमूलचूल परिवर्तन हुए हैं और उस नींव पर आज़ादी की शताब्दी के समय 2047 में भारत कहां होगा, ये निर्धारण अगले 5 साल में होगा। उन्होंने कहा कि ये चुनाव लोकतंत्र के साथ-साथ गरीब कल्याण, जनकल्याण, परंपरा और तकनीक के बीच सिनर्जी और लोकतंत्र और सुरक्षा सुनिश्चित करने का त्यौहार है। इस अवसर पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे सहित अनेक मणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश आज self-confident, self-reliant, dormant से dynamic government, regressive से progressive growth और fragile से top economy की ओर बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि ये यात्रा दशकों तक चलेगी और मोदीजी द्वारा हमारे सामने रखे गए लक्ष्य, 2047 तक भारत पूर्ण विकसित, आत्मनिर्भर और शीर्ष अर्थव्यवस्थाओं में शुमार होगा, ज़रूर पूरे होंगे। उन्होंने कहा कि इन लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए हमारे पास पिछले 10 साल की परफॉर्मेंस और अगले 25 साल का रोडमैप है। श्री शाह ने कहा कि पिछले 10 साल में हुए परिवर्तनों को समझने के लिए उससे पहले के काल में क्या हुआ, उसे समझना होगा। श्री शाह ने कहा कि हमें 10 साल पहले क्या मिला था और आज हम कहां खड़े हैं, वही नरेन्द्र मोदी सरकार के मूल्यांकन का पैरामीटर हो सकता है। उन्होंने कहा कि 2014 में अर्थव्यवस्था जर्जर थी, निवेशकों का भरोसा उठ गया था, 12 लाख करोड़ रूपए के घोटालों ने देश के आत्मविश्वास को हिला दिया था, देश में crony-capitalism चरम पर था, मंहगाई आसमान छू रही थी, fiscal deficit काबू से बाहर था, ईज़ ऑफ डूइंग बिज़नेस रैंकिंग में हम बहुत नीचे पहुंच गए थे और देश की सुरक्षा व्यवस्था भी बहुत कमज़ोर हो चुकी थी। उन्होंने कहा कि उस वक्त देश की जनता ने नरेन्द्र मोदी जी को पूर्ण बहुमत देने का निर्णय लिया और ये सरकार बनी। श्री शाह ने कहा कि उससे पहले देश में 30 साल तक राजनीतिक अस्थिरता का दौर था और बहुत लंबे समय बाद किसी को पूर्ण बहुमत मिला था। श्री शाह ने कहा कि वहीं से सुरक्षा, शिक्षा, इनोवेशन और अर्थव्यवस्था के रूप में विकास से भारत की ग्रोथ स्टोरी शुरू होती है। उन्होंने कहा कि 2004 से 2014 के बीच औसत मंहगाई दर 8.2 प्रतिशत थी और 2010, 2011 और 2013 में ये डबल डिजिट में थी, लेकिन आज हम लगातार इसे 5 प्रतिशत से नीचे मेंटेन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने बैंकों, forex mismanagement को ठीक किया और इसके बाद अलग प्रकार की राजनीति की शुरूआत हुई।

श्री अमित शाह ने कहा कि लंबे समय तक हमारे देश की राजनीति 4 नासूरों से ग्रसित रही – परिवारवाद, जातिवाद, भ्रष्टाचार और तुष्टिकरण – इनमें मैरिट का कहीं कोई स्थान नहीं था। उन्होंने कहा कि मोदी जी ने इन 10 साल में न सिर्फ केन्द्र बल्कि देशभर के चुनावों में सीधा लीड कर पॉलिटिक्स ऑफ परफ़ॉर्मेंस को स्थापित करने का काम किया। उन्होंने कहा कि अब परफॉर्म करने वाली सरकारें बार-बार चुनकर आती हैं और पहली बार परिवारवाद और जातिवाद से अलग माहौल बनाने का काम हमारी सरकार ने किया। शाह ने कहा कि पिछली सरकार के कार्यकाल में देश में पॉलिसी पैरालिसिस हो गया था, हर मंत्री अपने आप को प्रधानमंत्री मानता था और प्रधानमंत्री को कोई प्रधानमंत्री नहीं मानता था। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार के 10 साल में एक भी नीति नहीं बनी, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने 10 साल में 40 से अधिक नीतियां बनाकर देश की अर्थव्यवस्था को shape देकर policy-driven state का बेस्ट उदाहरण प्रस्तुत किया है।

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि अगर कोई सरकार 50 साल काम करे तो 5 बड़े फैसले ले सकती है, लेकिन मोदी सरकार ने 10 साल के कार्यकाल में ही 50 से अधिक युगांतरकारी फैसले लिए हैं जिन्हें दुनिया भी भारत की दिशा और दशा बदलने वाला मानती है। उन्होंने कहा कि 2016 में नोटबंदी कर भ्रष्टाचार और नकली मुद्रा पर रोक लगाई, 2017 में जीएसटी लाए, एनपीए की समस्या के समाधान के लिए बड़े फैसले किए, जन-धन-आधार- मोबाइल के रूप में डिजिटल लैंडस्केप का विस्तार अंतिम व्यक्ति तक किया, सर्जिकल और एयर स्ट्राइक कर पूरी दुनिया को संदेश दिया कि भारत की सेना और सीमा के साथ कोई छेड़खानी नहीं कर सकता। उन्होंने कहा कि मोदी जी ने तीन तलाक समाप्त कर करोड़ों मुस्लिम माताओं-बहनों को अधिकार दिया, सीएए पारित कर शरणार्थियों को नागरिकता का अधिकार दिया, धारा 370 और 35ए को हटाकर कश्मीर को हमेशा के लिए भारत के साथ जोड़ दिया। श्री शाह ने कहा कि मोदी सरकार नई शिक्षा नीति लाई जिसमें भविष्य के भारत और हमारे संस्कारों की सुगंध दोनों हैं। उन्होंने कहा कि देश की महिलाओं को नीतिनिर्धारण में हिस्सेदार बनाने के लिए नारी शक्ति वंदन अधिनियम लाकर 33 प्रतिशत आरक्षण विधानसभाओं और संसद में देने का काम मोदी सरकार ने किया। श्री शाह ने कहा कि हम अंग्रेज़ों द्वारा बनाए गए क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम के 3 कानूनों की जगह तीन नए कानून लाए और ये मोदी की गारंटी है कि इन कानूनों पर अमल के बाद देश में किसी भी केस में 3 साल में न्याय सुनिश्चित होगा और तारीख पर तारीख अब भूतकाल की बात हो जाएगा।

अमित शाह ने कहा कि भारत के गौरव को न किसी ने समझा और न किसी ने इसे बढ़ाने की चिंता की। उन्होंने कहा कि देश के विकास के साथ देश के हर नागरिक का सीधा लेना-देना है। उन्होंने कहा कि मोदी जी ने हमारे सारे मानबिंदुओं को सम्मानित कर देश के सामूहिक आत्मविश्वास का निर्माण किया। श्री शाह ने कहा कि हमारा नया संसद भवन मोदी जी की कल्पना है और ये दुनिया की सबसे आधुनिक और भव्य डेमोक्रेटिक व्यवस्था बनकर हमारे सामने खड़ा है। उन्होंने कहा कि राजपथ को कर्तव्यपथ में बदलने का काम मोदी जी ने किया। उन्होंने कहा कि आतंकवाद, वामपंथी उग्रवाद और हथियारबंद समूहों पर नकेल कसकर देश में शांति स्थापित करने का काम नरेन्द्र मोदी जी ने किया। उन्होंने कहा कि देश में 3 हॉटस्पॉट होते थे – नॉर्थईस्ट, वामपंथी उग्रवाद से प्रभावित क्षेत्र और कश्मीर। उन्होंने कहा कि आज इन तीनों हॉटस्पॉट में हिंसा 72 प्रतिशत से अधिक कम हो चुकी है और 10 हज़ार से अधिक उग्रवादी हथियार डालकर मेनस्ट्रीम में आ चुके हैं और इससे बहुत बड़ा परिवर्तन आया है।

केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि मोदी जी ने देश के करोड़ों लोगों के जीवन में सारी मूलभूत सुविधाएं देकर उन्हें देश के विकास के साथ जोड़ने का सबसे बड़ा काम किया है। उन्होंने कहा कि मोदी जी ने 10 करोड़ लोगों को गैस सिलिंडर, 12 करोड़ लोगों को शौचालय, 14 करोड़ लोगों को नल से जल, 11 करोड़ किसानों को 6 हज़ार रुपए प्रति वर्ष, 4 करोड़ लोगों को घर और 60 करोड़ लोगों को 5 लाख तक के स्वास्थ्य का खर्च देने का काम किया है। श्री शाह ने कहा कि कोई देश 60 करोड़ लोगों को अलग रखकर विकास के रास्ते पर नहीं चल सकता और आज हमारा बाज़ार 130 करोड़ लोगों का है।

श्री अमित शाह ने कहा कि इन 5 साल में मोदी जी ने बहुत सारे परिवर्तन किए हैं। उन्होंने कहा कि 2013-14 में देश में 91 हज़ार किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग थे, जो 2023 में 1,45,000 राष्ट्रीय राजमार्ग बन चुके हैं। उन्होंने कहा कि मोदी जी ने 2030 तक में देश में लॉजिस्टिक्स के खर्च को 10 प्रतिशत कम करने का लक्ष्य रखा है जिससे विश्व में हमारे उत्पाद स्पर्धा में टिक सकेंगे। श्री शाह ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग का निर्माण पहले 11.6 किमी होता था अब प्रतिदिन 28 किमी नेशनल हाइवे बन रहे हैं, रोड ओवरब्रिज पहले चार हजार थे देश में अब 11 हजार हैं। मेट्रो वाले शहर पहले 5 थे, अब 20 हैं और एयरपोर्ट की संख्या 74 से बढ़कर आज देश में 150 हो गई है। उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था आंकड़ों से नहीं चलती, अर्थव्यवस्था को बदलने के लिए अर्थव्यवस्था को प्रभावित करने वाली सभी चीजों को बदलने की आवश्यकता है जिसका प्रयास मोदी सरकार ने पिछले 10 सालों में किया है। उन्होंने कहा कि रेलवे में capital expenditure को 2 लाख करोड़ रूपये से बढ़ाकर 5 लाख 22 हजार करोड़ रूपये किया, ports और पर्यटन में भी लगभग दोगुना किया। पिछली सरकार के आखिरी बजट में capital expenditure दो लाख करोड़ रूपये था, जो मोदी सरकार के पिछले महीने पेश किये गये अंतरिम बजट में बढ़कर 11 लाख करोड़ रुपए हो गया। उन्होंने कहा कि ये आंकड़े बताते हैं कि देश कितने सुनियोजित तरीके से आगे बढ़ रहा है ।

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री ने कहा कि 2013-14 में average GDP 6.9 प्रतिशत थी जो आज 8.4 प्रतिशत है, प्रति व्यक्ति आय 3889 डॉलर थी, जो आज 6000 डॉलर हो गई है। Electronic export value 7.6 बिलियन डॉलर थी, जो आज 23 बिलियन डॉलर हो गयी है, प्रत्यक्ष विदेशी निवेश 305 बिलियन डॉलर से बढ़कर 600 बिलियन डॉलर पहुंच गया है और स्टार्टअप की संख्या 350 से बढ़ाकर 1,17,000 तक पहुंचाने का काम किया है। बॉम्बे स्टाक एक्सचेंज 22 हजार के आंकड़े से बढ़कर 73 हजार के पार पहुंच गया है, जो हमारी सशक्त अर्थव्यवस्था का बहुत बड़ा द्योतक है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार के दौरान प्रत्यक्ष करदाताओं की संख्या 4.7 करोड़ थी जो आज 8.18 करोड़ हो गयी है और अप्रत्यक्ष करदाता 60 लाख से बढ़कर 1 करोड़ 40 लाख हो गये हैं। ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स में भारत 81 रैंकिंग से उपर उठकर 40वें पायदान पर आ गया है, ब्राडबैंड का इस्तेमाल करने वाले लोग 2013-14 में भारत में 6 करोड़ थे जो आज 90 करोड़ हैं। 8 शाह ने कहा कि 10 साल पहले दुनिया में हम 11वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था थे, आज 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गये हैं।
श्री अमित शाह ने कहा कि मोदी जी के नेतृत्व में वैश्विक मानचित्र पर भारत एक bright spot बन कर उभरा है और साइलेंट प्रधानमंत्री से एक वायब्रेंट प्रधानमंत्री तक की यात्रा मोदी जी ने कराई है। उन्होंने कहा कि देश में बहुत बड़ा परिवर्तन हुआ है, राजनीतिक स्थिरता आई है, भष्टाचारमुक्त शासन है, जनकल्याणकारी नीतियां है, investment-friendly एजेंडा है और शांतिपूर्ण माहौल है। उन्होंने कहा कि आज देश को नरेन्द्र मोदी के रूप में एक ऐसा दूरदर्शी प्रधानमंत्री और नेता मिला है जिन्होंने 23 साल में कोई अवकाश नहीं लिया है और सतत रूप से कार्य के प्रति समर्पित रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमने 12 लाख करोड़ के घपले-घोटाले वाली सरकार देखी है, लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 23 साल तक गुजरात के मुख्यमंत्री और देश के प्रधानमंत्री रहे हैं, उनके राजनीतिक कार्यकाल में उनपर विपक्ष भी भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा सकता। शाह ने कहा कि नरेन्द्र मोदी के रूप में हमने एक युगद्रष्टा प्रधानमंत्री पाया है, जो दूरदर्शी होने के साथ –साथ युग परिवर्तन करने की माद्दा रखते हैं। मोदी सरकार ने investment, innovation, idea को प्लेटफार्म देकर युवाओं को इनसे जोड़ा है जिससे नई शुरुआत हुई है।

केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि पिछले 10 साल में इतना काम हुआ है, जैसे, हर हफ्ते एक विश्वविद्यालय, हर दिन 2 नए कॉलेज खुले हैं, हर दिन 55 पेटेंट और 600 ट्रेडमार्क रजिस्टर हुए हैं, हर दिन 1.5 लाख गरीबों को मुद्रा लोन देकर रोजगार दिया है, हर दिन 37 नए स्टार्टअप बनाए हैं, हर दिन 16000 करोड़ के यूपीआई ट्रांजेक्शन हुए हैं, हर दिन 3 नए जनऔषधि केन्द्र खुले हैं, 14 किलोमीटर रेलवे ट्रैक का निर्माण, 50000 से अधिक गैस सिलिंडर कनेक्शन और हर दिन 75000 लोगों को गरीबी रेखा से ऊपर उठाया है। शाह ने कहा कि मोदी सरकार में आज 25 करोड़ की आबादी गरीबी रेखा से ऊपर आ चुकी है। उन्होंने कहा कि मोदी जी पैशन के साथ देश के विकास, सुरक्षा और संस्कृति के लिए काम किया है। हमें 1 ट्रिलियन डॉलर वाली इकोनॉमी बनने में 67 साल लगे, 2 ट्रिलियन तक पहुंचने में और 8 साल लगे लेकिन मोदी जी ने 5 ही साल में 3 ट्रिलियन तक पहुंचा दिया और इस वर्ष के अंत तक हम 4 ट्रिलियन तक पहुंच जाएंगे। उन्होंने कहा कि 1947 से अब तक 1000 बिलियन डॉलर का एफडीआई आया, जिसमें से 600 बिलियन डॉलर अंतिम 8 साल में आए हैं। उन्होंने कहा कि पहले एफडीआई 7-8 शहरों तक सीमित था, आज 31 राज्यों में एफडीआई पहुंचता है। पहले भारत में एफडीआई कुछ ही देशों से आता था, आज 160 देशों से भारत में एफडीआई आता है, पहले एफडीआई कुछ ही सेक्टर्स में आता था और आज 61 सेक्टर्स में आता है।

अमित शाह ने कहा कि जी20 के दौरान दिल्ली घोषणापत्र सर्वसम्मति से पारित हुआ और अफ्रीकन यूनियन को इस समूह में शामिल किया गया। उन्होंने कहा कि मोदी जी कूटनीतिक विजय की शुरूआत वहां से की और आज पूरी दुनिया किसी भी समस्या के मामले में ये देखती है कि भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी उसके बारे में क्या बोलते हैं। श्री शाह ने कहा कि मोदी जी ने भारत को कई नए क्षेत्रों में अग्रणी बनाने का काम किया है और अगले 5 साल में पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था को हम दिशा देंगे। उन्होंने कहा कि मोदी जी ने हमारे सामने 2027 तक 5 ट्रिलियन डॉलर वाली दुनिया की तीसरे नंबर की अर्थव्यवस्था बनने, 2030 तक 2 ट्रिलियन डॉलर के निर्यात का लक्ष्य, 2025 तक स्पेस स्टेशन स्थापित करने, 2036 में ओलंपिक की मेज़बानी करने, 2040 में चंद्रमा पर मनुष्य भेजने और 2047 में एक पूर्णविकसित राष्ट्र के रूप में विश्व गुरु बनने का लक्ष्य रखा है। उन्होंने कहा कि भारत का विकास सिर्फ सरकार की महत्वकांक्षा से नहीं, बल्कि नागरिकों के आत्मविश्वास से हो सकता है।