18 views 7 sec 0 Comment

SDRF, उत्तराखंड द्वारा होमगार्ड्स को राहत एवं बचाव कार्यों की सिखाई बारीकियाँ।

- March 16, 2024
SDRF, उत्तराखंड द्वारा होमगार्ड्स को राहत एवं बचाव कार्यों की सिखाई बारीकियाँ।

SDRF, उत्तराखंड द्वारा होमगार्ड्स को राहत एवं बचाव कार्यों की सिखाई बारीकियाँ।

रिपोर्ट: ऋषभ भंडारी

आज दिनाँक 16 मार्च 2024 को SDRF वाहिनी मुख्यालय, जौलीग्रांट में विभिन्न जनपदों से आये 119 होमगार्ड्स का 42 दिवसीय बेसिक डिजास्टर मैनेजमेंट प्रशिक्षण कार्यक्रम का सकुशल समापन हुआ। 42 दिवसीय बेसिक ट्रैनिंग के दौरान प्रशिक्षुओ को आपदा प्रबंधन की आधारभूत जानकारी के साथ आपदा के दौरान राहत एवं बचाव कार्यों का अभ्यास भी कराया गया। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान मेडिकल फर्स्ट रेस्पांडर (MFR), कॉलेप्स स्ट्रक्चर सर्च एंड रेस्क्यू (CSSR), रोप रेस्क्यू, फ्लड रेस्क्यू इत्यादि का प्रशिक्षण दिया गया।

श्री अभिनव कुमार, पुलिस महानिदेशक, उत्तराखंड महोदय की पहल व श्रीमती रिधिम अग्रवाल, पुलिस महानिरीक्षक, SDRF के दिशानिर्देशन में SDRF वाहिनी में प्रथम बार होमगार्डस को आपदा प्रबंधन का कोर्स कराया गया। इस प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य होमगार्ड जवानों को आपदा की स्थितियों में तत्परता, त्वरित प्रतिक्रिया, राहत और बचाव कार्यों में सक्रिय भूमिका निभाने और आपदा प्रबंधन में उनकी क्षमताओं को बढ़ाना रहा।

प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन सत्र में श्री मणिकांत मिश्रा, सेनानायक, SDRF द्वारा होमगार्ड प्रशिक्षुओं को सकुशल कोर्स सम्पन्न होने पर बधाई देते हुए आशा व्यक्त की कि इस प्रशिक्षण का सकारात्मक उपयोग करते हुए आपदाओं के समय राहत एवं बचाव कार्यों में महत्त्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करेंगे। उन्होंने कहा कि ये प्रशिक्षण न केवल होमगार्ड जवानों को आपदा की स्थिति में कार्य करने के लिए तैयार करता है, बल्कि उन्हें आपदा प्रबंधन के लिए आवश्यक सामरिक और संवेदनशील दृष्टिकोण विकसित करने में भी मदद करता है।

आपदा प्रबंधन कोर्स के उपरांत आयोजित परीक्षा में होमगार्ड अंकित शर्मा ने प्रथम, होमगार्ड दीपक सिंह पटवाल ने द्वितीय व होमगार्ड विशाल कुमार ने तृतीय स्थान प्राप्त किया जिन्हें श्री मणिकांत मिश्रा, सेनानायक SDRF द्वारा सम्मानित कर मनोबल बढ़ाया गया। समापन सत्र के दौरान उप सेनानायक श्री विजेंद्र दत्त डोभाल सहायक सेनानायक श्री श्यामदत्त नौटियाल, सहायक सेनानायक, क्वार्टर मास्टर श्री राजीव रावत, निरीक्षक श्री हरक सिंह राणा, निरीक्षक श्री प्रमोद रावत, निरीक्षक श्री कवींद्र सजवाण मौजूद रहे।