14 views 0 sec 0 Comment

विश्व गौरैया दिवस: रोशन राणा ने गौरेया दिवस पर अपने हाथ से बनाए गए धौसले निःशुल्क वितरण किए

- March 21, 2024
विश्व गौरैया दिवस

विश्व गौरैया दिवस: रोशन राणा ने गौरेया दिवस पर अपने हाथ से बनाए गए धौसले निःशुल्क वितरण किए

रिपोर्ट: ऋषभ भंडारी

प्रत्येक वर्ष 20 मार्च को विश्व गौरैया दिवस मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य गौरैया के बारे में जागरूकता बढ़ाना और घरेलू गौरैया के संरक्षण के उपायों के बारे में लोगों को बताना है। जैसे कि पिछले कुछ वर्षों में देखा गया है कि गौरैया की संख्या में काफी कमी पाई गई है इसके पीछे के कारणों में आहार की कमी, बढ़ता आवासीय संकट, कीटनाशक का व्यापक प्रयोग, जीवन-शैली में बदलाव, प्रदूषण और मोबाइल फोन टावर से निकलने वाले रेडिएशन को दोषी बताया जाता रहा है,

हालांकि, देश के छह मेट्रो बेंगलुरु, चेन्नई, दिल्ली, हैदराबाद, कोलकाता और मुंबई और अन्य बड़े शहरों में इनकी संख्या में कमी देखी गई है, पर्यावरण प्रेमी और गौरेया को बचाने की मुहिम में कई वर्षों से कार्यरत झंडा बाजार निवासी रोशन राणा जी आज गौरेया दिवस पर अपने हाथ से बनाए गए धौसले निःशुल्क वितरण किए और कुछ घोंसले गौरेया के संभावित छेत्रो में लगाये, उन्होंने बताया कि गौरैया हमारे पर्यावरण संरक्षण के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण है इसकी रक्षा करना भी हम सबका कर्तव्य बनता है , बहुत ही मामूली से खर्चे में इनके रहने की व्यवस्था हो जाती है और इनका भोजन तो हमारे बचे हुए भोजन से ही हो जाती है, बस इन्हें बचाने की जिज्ञासा हमारे दिलो में होनी चाहिए, इसी मंशा के तहत रोशन राणा जी प्रत्येक वर्ष सैकड़ो की संख्या में अपने हाथ से बने हुए घोंसले निशुल्क वितरण करते व जन जन को गौरेया के प्रति जागरूकता जगाते आ रहे हैं