18 views 7 sec 0 Comment

मैड ओवर मैडी: क्यों आर माधवन ब्रैंड्स के फेवरेट हैं!

- April 25, 2024
मैड ओवर मैडी: क्यों आर माधवन ब्रैंड्स के फेवरेट हैं!

मैड ओवर मैडी: क्यों आर माधवन ब्रैंड्स के फेवरेट हैं!

रिपोर्ट: जगजीत सिंह

मल्टी-हाइफ़नेट एक्टर आर माधवन, जिन्हें प्यार से मैडी के नाम से जाना जाता है, ने अपने बेहतरीन अभिनय से इंडियन फिल्म इंडस्ट्री में अपने लिए एक जगह बनाई है। उनकी बैक-टू-बैक सफलताओं ने उन्हें मिडास टच वाला एक्टर बना दिया है और दिलचस्प बात यह है कि यह प्रतिष्ठा सिर्फ सिल्वर स्क्रीन तक ही सीमित नहीं है। बल्कि ब्रांड कोलैबोरेशन और एंडोर्समेंट की दुनिया में भी फैल गई है क्योंकि एक्टर अनगिनत ब्रैंड्स के लिए उनकी फर्स्ट चॉइस के रूप में भी उभरे हैं।

माधवन ब्रैंड्स के लिए पॉपुलर चॉइस क्यों हैं उसके कई कारणों में से एक उनकी पैन इंडिया अपील है। माधवन का ऑन-स्क्रीन पर्सोना उन्हें विभिन्न जनसांख्यिकी के दर्शकों से आसानी से जुड़ने में सक्षम बनाता है। उनकी लोकप्रियता भाषा की बाधाओं को पार करती है, जो उन्हें ब्रांडों के लिए एक स्पष्ट पसंद बनाती है। एक्टर ने सालों से साबित कर दिया है कि वह जिस भी प्रोजेक्ट को छूते हैं वह बॉक्स ऑफिस गोल्ड बन जाता है। यह इमेज ब्रैंड्स की दुनिया पर भी राज करती है क्योंकि किसी प्रोडक्ट या सर्विस के साथ उनका एसोसिएशन अक्सर कंज्यूमर्स में विश्वास पैदा करता है, जिससे लॉन्ग-टर्म ब्रैंड लॉयल्टी पैदा होती है।

एक्टर ने ज्वेलरी, एंटरटेनमेंट, फैशन से लेकर टेक्नोलॉजी, स्पोर्ट्स और टूरिज्म तक कई ब्रैंड्स का सपोर्ट किया है, जो साबित करता है कि मैडी की वर्सेटिलिटी सिर्फ सिल्वर स्क्रीन तक ही सीमित नहीं है बल्कि उन ब्रैंड्स में भी झलकती है, जिनके साथ वह जुड़े हुए हैं। वह टाटा प्ले, कासाग्रैंड, जोस अलुक्कास, पोथिस, एको और ड्रीम 11 जैसे ब्रैंड्स के साथ लॉन्ग-टर्म कोलैबोरेटर रहे हैं। जबकि ट्रेंड्स आते और जाते हैं लेकिन मैडी समय की कसौटी पर खरे उतरे हैं और प्रासंगिक बने हुए हैं; उनकी वर्सेटिलिटी, चार्म और रिलेटेबिलिटी उन्हें न सिर्फ लोगों का फेवरेट बनाती है बल्कि ब्रैंड्स के क्षेत्र में भी एक लोकप्रिय व्यक्ति बनाती है।

काम के मोर्चे पर, मैडी ने अपनी लेटेस्ट रिलीज़ ‘शैतान’ से सफलता का स्वाद चखा, जिसमें उन्होंने अपने प्रदर्शन से दर्शकों को सरप्राइज कर दिया। एक्टर की आगामी प्रोजेक्ट में तमिल में ‘अधीरष्टसाली’ और ‘टेस्ट’ शामिल है। वहीं, हिंदी में ‘द अनटोल्ड स्टोरी ऑफ सी शंकरन नायर’ भी मौजूद है।