23 views 0 sec 0 Comment

शीशगढ़ निवासी ट्रक चालक और उसके पुत्र के बदमाशों ने मारी गोली, इलाज के दौरान ट्रक चालक की हुई मौत

- June 11, 2022

शीशगढ़ निवासी ट्रक चालक और उसके पुत्र के बदमाशों ने मारी गोली, इलाज के दौरान ट्रक चालक की हुई मौत

बरेली से संवाददाता डॉक्टर मुदित प्रताप सिंह की रिपोर्ट

जनपद बरेली शीशगढ़ _ कस्बा शीशगढ़ निवासी ट्रक चालक और उसके पुत्र के पटना मे अज्ञात लोगों ने गोली मार दी मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों घायलों को अस्पताल भिजवाया वहां इलाज के दौरान ट्रक चालक की मौत हो गई। और गंभीर रूप से घायल उसके पुत्र का अस्पताल में इलाज चल रहा है, मृतक के परिजनों को घटना की जानकारी मिलते ही घर में कोहराम मच गया।

पुत्र नदीम के सिर में गोली मारी गई है

जानकारी के मुताबिक कस्बा शीशगढ़ मोहल्ला शेखपुरा निवासी रफीक अहमद पुत्र छिददा उम्र 50 वर्ष और उसका पुत्र नदीम अहमद खुद का 10 टायरा ट्रक चलाते हैं वह अपना ट्रक लेकर पटना बिहार गए थे पटना में बाईपास थाना क्षेत्र के अंतर्गत टेंट सिटी स्थित सब्‍जी मंडी के समीप अज्ञात लोगों ने ट्रक चालक रफीक अहमद के सीने में गोली मार दी।वहीं पुत्र नदीम के सिर में गोली मारी गई है। इसके बाद हमलावर फरार हो गए। मौके पर पहुंची पुलिस ने ट्रक चालक रफीक अहमद और उसके पुत्र नदीम अहमद को नालंदा मेडिकल कालेज अस्पताल भिजवाया वहां इलाज के दौरान ट्रक चालक रफीक अहमद की मौत हो गई। और उसके पुत्र नदीम अहमद की गंभीर हालत को देखते हुए पीएमसीएच रेफर कर दिया गया,

रफीक अहमद के सीने में गोली मारी गई है

पुलिस ने बताया ट्रक चालक रफीक अहमद के सीने में गोली मारी गई है और उसके पुत्र नदीम के सिर में गोली मारी गई है ट्रक चालक रफीक अहमद की इलाज के दौरान मौत हो गई और उसके पुत्र नदीम का अस्पताल में इलाज चल रहा है पुलिस प्रशासन के अधिकारियों से पत्रकारों ने पूछा इतनी बड़ी (घटना) वारदात के पीछे क्या वजह रही होगी तो उन्होंने बताया इसका अभी कुछ खुलासा नहीं हो सका है।

सीसीटीवी कैमरों के फुटेज की जांच की जा रही

ट्रक चालक के पुत्र नदीम अहमद के होश में आने के बाद उसके बयान से ही पूरा मामला स्पष्ट हो सकेगा। आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज की जांच की जा रही है। घटना के पीछे लूटपाट का विरोध करना भी हो सकता है। मृतक रफीक अहमद की मौत की खबर सुन शीशगढ़ कस्बे और मोहल्ला पड़ोस में हड़कंप मच गया और मृतक के घर में कोहराम मच गया उनके परिजनों का रो रो कर बुरा हाल हो गया,घटना की सूचना मिलते ही परिजन पटना के लिए निकल गए,