8 views 7 sec 0 Comment

IPL franchise South Africa:  IPL टीमों ने खरीदी साउथ अफ्रीकी लीग की 6 टीमें

- 21 July 2022

IPL franchise South Africa: IPL टीमों ने खरीदी साउथ अफ्रीकी लीग की 6 टीमें

Sports Desk | ANN NEWS

पिछले 15 सालों में क्रिकेट काफी बदल चुका है। 2008 में इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की शुरुआत के साथ गुजरते वक्त में क्रिकेट बदल चुकी है। अब इस खेल का फोकस इंटरनेशनल क्रिकेट और बाइलेटरल सीरीज से हटकर फ्रेंचाइजी क्रिकेट पर केंद्रित हो रहा है। अब पहले के मुकाबले इंटरनेशनल कैलेंडर छोटा हो गया है। दुनिया के तमाम देश फ्रेंचाइजी क्रिकेट को बढ़ावा दे रहे हैं। इसी कड़ी में, साउथ अफ्रीका में एक टी20 लीग का आगाज होने वाला है, जिसका IPL से गहरा नाता है। साउथ अफ्रीका IPL की तर्ज पर अगले साल यानी 2023 से टी20 लीग को शुरू करने की तैयारी कर रहा है। टीमों के लिए बोलियां लगाई जा रही हैं। अब तक हुए ऑक्शन में IPL की छह टीमों ने साउथ अफ्रीका की आगामी लीग में अपनी-अपनी टीमें खरीद ली हैं।

IPL की चार बार की चैंपियन चेन्नई सुपर किंग्स ने जोहान्सबर्ग की टीम को खरीदा है। वहीं, पांच बार की चैंपियन मुंबई इंडियंस ने केपटाउन की टीम को अपने नाम किया है। सनराइजर्स हैदराबाद ने पोर्ट एलिजाबेथ और दिल्ली कैपिटल्स ने प्रिटोरिया की टीम को खरीदा है। लखनऊ सुपर जाएंट्स को डरबन और आईपीएल की पहली चैंपियन राजस्थान रॉयल्स को पार्ल की टीम मिली है। हालांकि अभी इस ऑक्शन की आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है, पर इसमें किसी बदलाव की संभावना न के बराबर है। साउथ अफ्रीका के पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ को इस लीग का कमिश्नर बनाया गया है।

मुंबई इंडियंस की ओनर और रिलायंस इंडस्ट्रीज निदेशक नीता अंबानी ने केपटाउन टीम को खरीदने के बाद कहा, “मुझे रिलायंस परिवार में अपनी नई टी20 टीम का स्वागत करते हुए खुशी हो रही है। हम मुंबई इंडियंस के निडर और मनोरंजक क्रिकेट के ब्रांड को साउथ अफ्रीका में ले जाने के लिए उत्साहित हैं। यह एक ऐसा देश है जो क्रिकेट से उतना ही प्यार करता है जितना हम भारत में करते हैं।”

वहीं जोहान्सबर्ग की टीम को खरीदने के बाद चेन्नई सुपर किंग्स के सीईओ केएस विश्वनाथन ने कहा, “हम पिछले कुछ सालों में दुनिया भर में नए अवसरों का मूल्यांकन कर रहे हैं। हमें लगता कि दक्षिण अफ्रीका में यह टी20 लीग बेहद कंपिटिटीव होगी और यह हमारे लिए खेल को उसका रिटर्न देने का एक शानदार मौका है। इससे नए टैलेंट को भी मदद मिलेगी।”